Saturday, May 21, 2022
Banner Top

गर्भ की सलामती के लिए टोना-टोटका का दावा करने वाले परवेज आलम ने कहा  10 साल से कम के किसी लड़के या लड़की के आँख के खून से बनी ताबीज अगर उसकी पत्नी अपने गले में पहनती है तो उसकी पत्नी का गर्भ सुरक्षित रहेगा।

 Parvez Alam

बिहार के मुंगेर से एक चौंका देने वाली घटना सामने आई है। यहाँ अंधविश्वास का भारी उदाहरण प्रस्तुत करते हुए एक व्यक्ति ने परवेज़ आलम नामक एक ढोंगी की बातों में आकर एक 8 वर्ष की बच्ची की आँख निकाल ली। इसके कारण उस बच्ची की मौत हो गई।

कुछ दिनों पहले बिहार के मुंगेर से एक बच्ची की लाश मिली थी एवं इस मामले में बच्ची के साथ दुष्कर्म का अनुमान लगाया जा रहा था। अब यह मामला सम्पूर्ण रूप से खुल कर सामने आया है और इसके पीछे एक परवेज़ आलम नामक व्यक्ति के साथ-साथ दिलीप चौधरी, दशरथ मंडल और तनवीर आलम पकड़े गए हैं।

पूरा मामला सामने आया कि दिलीप चौधरी की पत्नी को गर्भधारण करने में समस्या आ रही थी। इसके चलते दिलीप, परवेज़ आलम के पास गया। परवेज़ आलम के कहने पर पड़हम के रहने वाले दिलीप ने पहले एक मछली की आँख की बलि दी एवं उसके बाद एक मुर्गे की बलि दी। इस सबके बाद भी दिलीप की समस्या दूर नहीं हुई तो परवेज़ ने उसे किसी बच्ची की आँख का खून लाने का निर्देश दिया।

 Parvez Alam

इसके उपरान्त दिलीप ने अपने 2 साथियों दशरथ मंडल और तनवीर आलम की सहायता से एक बच्ची का अपहरण किया। इन तीनों ने उस बच्ची की आँख निकाली जिस घटना के दौरान बच्ची ने भी छूटने के प्रयास किया और इस खींच-तान में बच्ची घायल हो गई एवं बाद में उसकी मृत्यु हो गई।

5 अगस्त को परवेज़ आलम ने बच्ची की आँख के खून से ताबीज़ बना कर दिलीप को दे दिया। उसे लेकर वह वापिस चला आया। बच्ची की लाश मिलने के बाद जब जाँच-पड़ताल प्रारम्भ हुई तो दिलीप के पास खून लगा कपड़ा और खून का ताबीज़ दोनों बरामद किए गए।

 

ये भी पढ़ें: कश्मीर विस्फोट के बाद 2 जिंदा हथगोले के साथ श्रीनगर में एक पत्रकार गिरफ्तार

 

दुष्कर्म का अनुमान

बच्ची की लाश ईंट के एक भट्टे के पास से बरामद हुई। लाश को देख कर दुष्कर्म का भी अनुमान लगाया जा रहा था, परन्तु रविवार (8 अगस्त, 2021) को आई रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई है।

इस मामले में बच्ची के माता-पिता पुलिस द्वारा की गई जाँच से संतुष्ट नहीं हैं। उनका कहना है कि बच्ची को मारने से पहले उसके साथ दुष्कर्म के कुकृत्य को अंजाम दिया गया था। बच्ची के पिता ने कहा: “पुलिस वाले स्वयं कहानी बना कर पेश कर रहे हैं, हमें न्याय चाहिए।”

पुलिस ने इस आरोप पर फिलहाल कुछ व्याख्या नहीं दी है। चारों आरोपितों को फिलहाल हिरासत में ले लिया गया है, और आगे की कार्रवाई की जा रही है।

 

(This story has been sourced from DO Politics, only heading and images are changed. The Calm Indian accepts no responsibility or liability for its dependability, trustworthiness, reliability and data of the text.)

Social Share

Related Article

0 Comments

Leave a Comment

advertisement

FOLLOW US

RECENTPOPULARTAG

advertisement